Yoga Blogs

Get Insight

वक्रासन


अर्थ- इस आसन मेंशरीर की स्थिति वक्र (मरोडी हुई) होने के...
Continue reading
  278 Hits
  0 Comments

बद्ध कोणासन


अर्थ- इस आसन में शरीर की आकृति एक बंधे हुये कोण...
Continue reading
  197 Hits
  0 Comments

नाड़ी षोधन ( अनुलोम विलोम)


इस प्रणायाम के अभ्यास से नाडियों का षुद्धिकरण होता हैं। अतः...
Continue reading
  300 Hits
  0 Comments

भस्त्रिका



लुहार की धौंकनी की तरह वेग पुर्वक वायु भरने व निकालने...
Continue reading
  292 Hits
  0 Comments

Parents are the most precious gift of God


  272 Hits
  0 Comments

कपाल भाति


अर्थ- कपाल का अर्थ हैं ललाट और भाति का अर्थ हैं...
Continue reading
  343 Hits
  0 Comments

प्राणायाम


प्राण यानि ष्वास को एक नया आयाम अर्थात रुप (या विस्तार)...
Continue reading
  259 Hits
  0 Comments

पाश्चिमोतानासन


अर्थ-  योग के संदर्भ में पूर्व यानि शरीर का सामने या...
Continue reading
  412 Hits
  0 Comments

सुप्त पादांगुष्ठासन




अर्थ- इस आसन में लेटकर (सुप्त) पैर के अंगुठे (पाद$अंगुष्ठा) को...
Continue reading
  293 Hits
  0 Comments

सर्वागांसन


जैसा की नाम से ही स्पष्ट हैं षरीर के सारे अंगों...
Continue reading
  341 Hits
  0 Comments

जठर परिवर्तनासन


अर्थ- जठर का अर्थ है पेट या उदर, परिवर्तन का अर्थ...
Continue reading
  517 Hits
  0 Comments

नौकासन


अर्थ- इस आसन में षरीर की आकृति नाव (नौका) की तरह...
Continue reading
  458 Hits
  0 Comments

भुजंगासन



अर्थ- भुजंग एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है सर्प। इस...
Continue reading
  491 Hits
  0 Comments

शीर्षासन



अर्थ- सिर (शीर्ष) के बल खड़े रहने के कारण इस आसन...
Continue reading
  427 Hits
  0 Comments

पादहस्तासन




अर्थ- इस आसन में पांव (पाद) को हाथों (हस्त) से पकडते...
Continue reading
  557 Hits
  0 Comments

A talk on Yoga in daily life


  409 Hits
  0 Comments

उत्थित पाश्र्व कोणासन



अर्थ- उत्थित यानि खड़ा, अतः खडे़ होकर किये जाने वाले आसनों...
Continue reading
  468 Hits
  0 Comments

Yog Kriya - Bicycle Movement


  422 Hits
  0 Comments

उत्थित त्रिकोणासन



अर्थ- इस आसन में हम उत्थित (खडे) होकर शरीर से एक...
Continue reading
  560 Hits
  0 Comments

वृक्षासन



अर्थ-  जिस तरह वृक्ष एक तने पर स्थिर रहता है उसी...
Continue reading
  614 Hits
  0 Comments